Sunday, 17 December 2017

Can’t love anymore..

झूठ नहीं बोल सकते! और relationship हलवा थोड़ी ना है की मिक्रोवेव में री-हीट कर के खा लिया..
अंदर से फ़ीलिंग नहीं आएगी प्यार कैसे करोगे
और पिछले इक्स्पिरीयन्स ने प्यार करने की हिम्मत तोड़ दी है तो किसी को ज़िंदगी में आने कैसे दोगे?
ऐसा नहीं है आप कोशिश नहीं करते, करते हो.. लेकिन नहीं होता है.. झूठ नहीं बोल जाता.. दिखावा नहीं कर सकते.. 

फिर काहे का लव और काहे का रेलेशन्शिप

उससे भी डेंजरस होता है भाई rebound.. मतलब किसी के पिछवाड़े पे पड़ी हो ताज़ी ताज़ी लात और आप से टकर गए वो पिटे हुए रुई के गद्दे.. आप तो पड़ गए प्यार में और निभा दिया साथ बुरे वक़्त में जब उनका कोई ना था.. फिर क्या बस हालत - साल में ठीक हो गए.. वो सेट हो गए.. और आपको एक ख़ाली बीयर के केन की तरह भींच कर कूड़ेदान में डाल दिया

बस फिर क्या? आप खड़े रह गए भौंचक्के की कब क्या कैसे हो गया और हमारी भैंचो ग़लती कहाँ रही और वो तल्ख़ी दिखा लहरा कर निकल लिए..

अब प्यार के नाम से चोक ले जाती है, ना किसी के क़रीब जाते हैं और ना किसी को क़रीब आने देते हैं..


अब कल्लो मुहब्बत किससे कलोगे!

No comments:

Post a Comment